एनसीसी ध्वज

एनसीसी ध्वज

    पहली बार वर्ष 1951 में एनसीसी के विभिन्न यूनिटों के लिए एनसीसी ध्वज बनाया गया    था। यह ध्वज संरचना, रंग और आकार में सेना के विभिन्न रेजिमेंटों के ध्वजों के समान ही  था। केवल यह अंतर था कि इसके मध्य में एनसीसी का बिल्ला और यूनिट का नाम अंकित  था। बाद में यह महसूस किया गया कि ध्वज को कोरों की अंतर-सेवा स्वरुप के अनुरुप होना  चाहिए। वर्ष 1954 में वर्तमान तिरंगा ध्वज बनाया गया। ध्वज के तीनों रंग कोरों की तीनों  सेवाओं को इंगित करते हैं यथा, 'लाल रंग' सेना के लिए, 'गहरा नीला रंग' नौसेना एवं 'हल्का  नीला रंग' वायु सेना के लिए है। ध्वज के मध्य में कमल वल्लरी से आवृत्त एनसीसी अक्षर  और स्वर्णिम एनसीसी क्रेस्ट है जो ध्वज को एक रंगीन स्वरुप और विशिष्ट पहचान प्रदान  करता है।